अखिलेश और डिंपल में कैसे हुआ प्यार और फिर शादी,हनीमून पर क्यों नहीं जा पाए अखिलेश




 
akhilesh yadav and dimple yadav love story latest
♥♥Akhilesh and Dimple Love story Truthstoday Special ♥♥
आज यूपी की सबसे चर्चित जोड़ियों में एक है अखिलेश और डिंपल की जोड़ी । आइए आज हम आपको बताते हैं कि इनकी लव स्टोरी शुरू कैसे हुई और प्यार का यह बंधन आज तक मजबूत कैसे हैं  –? दरअसल अखिलेश और डिंपल की प्रेम कहानी 90 के दशक में शुरू हुई थी।  डिंपल यादव ने लखनऊ विश्वविद्यालय से पढ़ाई की और लखनऊ के ही एक फंक्शन में उनकी मुलाकात अखिलेश से हुई थी  । कहां जाता है कि दोनों की पहली मुलाकात अखिलेश और डिंपल के एक कॉमन फ्रेंड ने कराई थी  । उस समय अखिलेश ऑस्ट्रेलिया से पढ़ाई करके वापस लौटे थे और राजनीति से उनका दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं था। अखिलेश यादव की  उम्र उस समय  लगभग 25 साल थी  जबकि  डिंपल की  21 साल । कहते हैं पहली ही मुलाकात में दोनों को एक दूसरे के प्रति आकर्षित हो गए थे । दोनों को एक दूसरे की बातें अच्छी लगती थी और स्वभाव भी ,  फिर क्या था पहले बातों से दोस्ती हुई और फिर दोस्ती से प्यार  । इसी प्यार ने उन्हें एक दूसरे से शादी के बंधन में बांध दिया । 




♥♥क्यों एक दूसरे से अलग हैं डिंपल और अखिलेश…♥♥
एक दूसरे से बेइंतहा प्यार करने के बावजूद अखिलेश और डिंपल कुछ मायनों में एक दूसरे से अलग है । अखिलेश उस समय स्पोर्ट्स की और खास तौर पर फुटबॉल के दीवाने थे तो डिंपल को घुड़सवारी और पेंटिंग का शौक है । अखिलेश को मधुर संगीत पसंद है तो डिंपल को हार्ड रॉक संगीत भाता है । बावजूद इसके इनका प्यार ही है जिसकी वजह से एक दूसरे की पसंद नापसंद के बीच कभी टकराहट नहीं हुई।  यहां एक चीज और जान लेना भी जरूरी है आपको कि डिंपल रिटायर्ड आर्मी कर्नल एस सी रावत की बेटी है और राजनीति से कोसों दूर रही है तो अखिलेश यादव का पूरा परिवार राजनीतिक पृष्ठभूमि से जुड़ा रहा है । इसीलिए राजनीति डिंपल की पसंद ना होते हुए भी जब अखिलेश राजनीति में आए तो डिंपल उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलती दिखाई दे रही हैं।




♥♥पहले भी अखिलेश से हारे थे  मुलायम…♥♥
समाजवादी पार्टी के घमासान में जब चुनाव आयोग में अखिलेश के पक्ष में फैसला सुनाया तो बहुत से लोगों ने कहा की अखिलेश से हार गए मुलायम । लेकिन क्या आपको पता है कि मुलायम अखिलेश की जीत के आगे एक बार पहले भी हार चुके हैं । कहां जाता है कि सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव अखिलेश और डिंपल की शादी के लिए शुरू में तैयार नहीं थे , लेकिन इन दोनों का प्यार ऐसा था की मुलायम हार गए थे । जानकार कहते हैं कि उस समय मुलायम के मित्र और करीबी अमर सिंह ने उनको इस शादी के लिए मनाया था ।अमर सिंह के ही प्रयास के चलते अखिलेश और डिंपल  नवंबर 1999 में एक हो सके थे और शादी के बंधन में बंध सके थे ।




♥♥क्यों हनीमून पर नहीं जा पाए अखिलेश…♥♥
अखिलेश की डिंपल से शादी 24 नवंबर 1999 को हुई थी । इसी साल दिसंबर में क्रिसमस के मौके पर अखिलेश ने डिंपल को लेकर लंदन या सिडनी जाने का प्रोग्राम बनाया था । हनीमून पर जाने से पहले दोनों देहरादून में शॉपिंग कर रहे थे । उसी समय पिता और सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का फोन आया उधर से कहां गया वापस आ जाओ तुम्हें चुनाव लड़ना है  । बस इसी एक फोन के बाद अखिलेश और डिंपल का हनीमून पर जाने का सपना टूट गया , क्योंकि उस समय उनका फैसला परिवार में अंतिम माना जाता था ।  इसके बाद मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश को सन 2000 में कन्नौज में हुए उपचुनाव में प्रत्याशी बनाया और इस तरह अखिलेश कन्नौज से सांसद बन गए  । एक के बाद एक चुनाव होते गए और इस तरह हनीमून का प्रोग्राम हमेशा के लिए कैंसिल होता चला गया यूपी की राजनीति में मुख्यमंत्री बन अखिलेश भले बुलंदियों तक पहुंच गए हो लेकिन उस समय हनीमून पर ना जा पाने का मलाल आज भी अखिलेश को है




♥♥पुराना प्यार कायम है अब तक..♥♥
कहते हैं शुरुआती प्यार चंद दिनों का ही होता है । शादी के बाद धीरे-धीरे मानो उसको नजर सी लग जाती है । लेकिन शादी के बाद राजनीति में एंट्री और मुख्यमंत्री बनने के सफर तक का समय बीत जाने के बाद भी दोनों के प्यार में वही ताजगी क्यों है… आज यह राज हम आपको बताते हैं दरअसल अखिलेश अपनी निजी जिंदगी में आज भी पत्नी डिंपल का बहुत सम्मान करते हैं ।  अखिलेश कई बार यह कह भी चुके है कि शादी करके मेरी किस्मत खुल गई ।  आज राजनीति की सबसे सफल जोड़ियों में यह जोड़ी ऊपरी पायदान पर खड़ी है तो इसकी सबसे बड़ी वजह एक दूसरे के प्रति सम्मान प्यार और समर्पण ही है  ।अब तो इनकी बगिया में तीन फूल भी है ।  जिनका नाम अदिति अर्जुन और टीना है ।जिनकी महक से इनका घर परिवार महकता रहता है ……..।
loading...

और भी ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *